X Close
X
9826087730

समलैंगिकता अपराध नहीं है, धारा 377 पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला


377
नई दिल्ली। समलैंगिकता को अपराध मानने वाली आईपीसी की धारा 377 की वैधानिकता पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है। हालांकि, खबरों के अनुसार यह फैसला फिलहाल एकांत में दो लोगों द्वारा सहमति से बनाए संबंधों पर लागू है। जबकि अन्य मामलों पर फिलहाल जानकारी का इंतजार है। न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने अपने फैसले में गुरुवार को कहा कि देश में सबको समानता का अधिकार है। समाज की सोच बदलने की जरूरत है।चीफ जस्टिस ने यह भी कहा कि कोई भी अपनी पहचान से नहीं भाग सकता, समाज आज व्यक्तिवाद के लिए बेहतर है। (INDIA SHAM TAK)